Laxminarayan Temple – लक्ष्मीनारायण मंदिर हिन्दू भगवान लक्ष्मीनारायण को समर्पित मंदिर है, जो नयी दिल्ली में बना यह पहला सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर है।

पहला सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर लक्ष्मीनारायण मंदिर – Laxminarayan Temple

लक्ष्मीनारायण साधारणतः विष्णु, त्रिमूर्ति के संरक्षक और साथ ही लक्ष्मी के साथ उन्हें नारायण के नाम से जाना जाता है।

लक्ष्मीनारायण को समर्पित इस मंदिर के निर्माणकार्य की शुरुवात 1933 में हुई, इसका निर्माण उद्योगपति और दर्शनशास्त्री बलदेव दास बिरला और उनके बेटे जुगल किशोर बिरला ने करवाया, इस मंदिर को बिरला मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।

मंदिर के आधार स्तंभ का निर्माण महाराज उदयभानु सिंह ने करवाया था।

इस मंदिर का निर्माण पंडित विश्वनाथ शास्त्री के नेतृत्व में करवाया गया।

इसके बाद मंदिर में स्वामी केशवानंदजी ने यज्ञ भी करवाया।

इस प्रसिद्द मंदिर का उद्घाटन 1939 में महात्मा गांधी ने किया था।

उस समय महात्मा गांधी ने यह प्रार्थना भी की थी, यह मंदिर केवल हिन्दू मंदिर ही नही रहेगा बल्कि यहाँ पर दुसरे जाती-धर्म के लोग भी आ सकते है।

बिरला द्वारा भारत में जगह-जगह पर बनाये गए मंदिरों में यह पहला मंदिर है, इसी वजह से इसे बिरला मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।

Read More Article 

अयोध्या राम मंदिर की जानकारी | Ayodhya Ram Mandir History

मंदिर:

मुख्य मंदिर के भीतर भगवान नारायण और देवी लक्ष्मी की मूर्ति स्थापित की गयी है।

मंदिर में दूसरी मुख्य मूर्तियाँ जैसे भगवान शिव, भगवान गणेश और हनुमान की मूर्ति भी शामिल है।

साथ ही मंदिर परिसर में भगवान बुद्धा को समर्पित भी एक मूर्ति है।

मंदिर की बायीं तरफ देवी दुर्गा की मूर्ति स्थापित की गयी है।

मंदिर तक़रीबन 7.5 एकर के परिसर में फैला हुआ है और लगभग 0.52 एकर के परिसर में मंदिर का निर्माण किया गया है।

और इसके परिसर में बहुत से फाउंटेन, प्राचीन मूर्तियाँ और राष्ट्रिय शिलालेख भी बने हुए है।

यह मंदिर दिल्ली आने वाले यात्रियों के आकर्षण का मुख्य केंद्र है।

जन्माष्टमी और दीवाली के समय यह मंदिर लाखो श्रद्धालुओ को आकर्षित करता है।

Like Our Facebook Page – Bhakti Sadhana

About the author

admin

Leave a Comment

error: Content is protected !!