कोरोनावायरस (Coronavirus)

Coronavirus Update:  कोरोना वायरस की चर्चा हर कहीं हो रही है. हाल ही में इसके तेजी फैलने की बात भी सामने आई हैं.

एशिया में कोरोना वायरस (Coronavirus) तेजी से फैल रहा है. दुनिया भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) से मौत होने के मामले भी लगातार बढ़ रहे हैं. चीन में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था.

इस वायरस के तेजी से फैलने के कारण भारत सरकार ने दिल्ली, मुंबई और कोलकाता हवाई अड्डों पर चीन से आने वाले पर्यटकों की एहतियातन थर्मल स्कैनर (Thermal Scanner) के जरिए जांच करने के निर्देश दिए थे.

इस वायरस की एहतियात के लिए उठाए गए कदमों को देखकर साफ है कि यह कितना खतरनाक हो सकता है.

आखिर क्या होता है कोरोना वायरस (What Is Coronavirus) और इसके लक्षण (Symptoms) कैसे पहचाने जा सकते हैं.

क्या कोरोना वायरस एक से दूसरे इंसान में फैलता है. यहां जानिए इन सभी सवालों के जवाब…

कोरोना वायरस क्या है? 

कोरोना वायरस को लेकर कई भ्रांतियां भी फैल रही हैं! अगर आप कोरोना वायरस के बारे में जानना चाहते हैं तो डब्ल्यूएचओ ने तेजी से फैल रहे इस वायरस को सी-फूड से जुड़ा है.

coronavirus

कोरोना वायरस से से लोग बीमार हो रहे हैं क्योंकि विषाणुओं का एक समूह है जो शरीर को सीधा इफेक्ट कर सकता है! यह वायरस ऊंट, बिल्ली तथा चमगादड़ सहित कई पशुओं में भी फैल रहा है. 

क्या कोरोना वायरस एक से दूसरे इंसान में फैलता है?

डब्ल्यूएचओ ने इस बात की पूरी संभावना व्यक्त की है कि कोरोना वायरस बेहद नजदीकी संपर्क में रहने वाले दो इंसानों में एक से दूसरे में संक्रमित हो सकता है. 

कहां से आया कोरोना वायरस (Coronavirus)?

इस वायरस के फैलने की शुरुआत चीन से हुई है.

चीन के हुवेई प्रांत के वुहान शहर में इसका सबसे ज्यादा प्रकोप देखने को मिला है.

चीन के साथ ही जापान, थाईलैंड, सिंगापुर में कोरोना वायरस के मरीज मिले हैं.

इंग्लैंड में एक ही परिवार के तीन सदस्य किसी वायरस से संक्रमित हो गए. 

संक्रमण से कैसे बचें

अभी तक ये पूरी तरह से पता नहीं चल सका है कि कोरोना वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में कैसे फैलता है.

हालांकि, इससे मिलते-जुलते वायरस खांसी और छींक से गिरने वाली बूंदों के ज़रिए फैलते हैं.

इसलिए आप ख़तरे को कम करने के लिए इन बातों का ध्यान रख सकते हैं-

एनएचएस की सलाह के मुताबिक़, अपने हाथ अच्छी तरह धोएं.

खांसते या छींकते वक़्त अपना मुंह ढक लें और हाथ साफ़ न हों तो आंखों, नाक और मुंह को छूने बचें.

इस तरह के कोई प्रमाण नहीं मिले हैं कि कोरोना वायरस पार्सल, चिट्टियों या खाने के ज़रिए फैलता है.

कोरोना वायरस जैसे वायरस शरीर के बाहर बहुत ज़्यादा समय तक ज़िंदा नहीं रह सकते.

coronavirus_se_kaise_bache

कितना ख़तरा

ब्रिटेन में चीफ़ मेडिकल ऑफ़िसर्स ने सार्वजनिक ख़तरे के स्तर को कम से मध्यम कर दिया है.

लेकिन, एनएचएस का कहना है कि व्यक्तिगत तौर पर जोख़िम कम है.

हालांकि, कुछ ऐसे देश हैं जहां पर कोरोना वायरस से ग्रस्त व्यक्ति के संपर्क में आने की ज़्यादा आशंका है.

इसलिए ब्रिटेन में चीन, इटली और ईरान से वापस आए लोगों के लिए ख़ास सलाह ज़ारी की गई है.

अगर आप इससे संक्रमित हो जाते हैं तो हल्के-फुल्के लक्षण सामने आएंगे. आप इसके संक्रमण से उबर भी सकते हैं.

वैज्ञानिकों का मानना है कि बीमारी से होने वाली मौतों की दर कम है.

यह 1 से 2 प्रतिशत के बीच है.

यह भी पता चला है कि जिनकी मौत हुई, वो या तो उम्रदराज़ थे या उन्हें पहले से ही कोई बीमारी थी.

लेकिन, ध्यान देने वाली बात यह है कि वायरस के शुरुआती स्तर के मामलों और हल्के-फुल्के लक्षणों वाले मामलों को अभी गिना नहीं गया है.

इसलिए संक्रमति मामलों की सामने आई संख्या पूरी तरह भरोसेमंद नहीं कही जा सकती.

Read More Article – अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस

क्या हैं लक्षण

इस कोरोनावायरस (कोवाइड-19) में पहले बुख़ार होता है, इसके बाद सूखी खांसी होती है और फिर एक हफ़्ते बाद सांस लेने में परेशानी होने लगती है.

हालांकि, इन लक्षणों का मतलब ये नहीं है कि आपको कोरोना वायरस का संक्रमण है.

कुछ और वायरस में भी इसी तरह के लक्षण पाए जाते हैं जैसे ज़ुकाम और फ्लू में.

कोरोना वायरस के गंभीर मामलों में निमोनिया, सांस लेने में बहुत ज़्यादा परेशानी, किडनी फ़ेल होना और यहां तक कि मौत भी हो सकती है.

उम्रदराज़ लोग और जिन लोगों को पहले से ही कोई बीमारी है (जैसे अस्थमा, मधुमेह, दिल की बीमारी) उनके मामले में ख़तरा गंभीर हो सकता है.

coronavirus_symptoms

ख़ुद को अकेले कैसे रखें

अगर आप संक्रमित इलाक़े से आए हैं या किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में रहे हैं तो आपको अकेले रहने की सलाह दी जा सकती है.

ऐसे में ये तरीके अपनाएं –

  • घर पर रहें
  • ऑफ़िस, स्कूल या सार्वजनिक जगहों पर न जाएं
  • सार्वजनिक वाहन जैसे बस, ट्रेन, ऑटो या टैक्सी से यात्रा न करें
  • घर में मेहमानों को न बुलाएं
  • कोशिश करें कि घर का सामान किसी और से मंगाएं.

अगर आप और भी लोगों के साथ रह रहे हैं तो ज़्यादा सतर्कता बरतें.

अलग कमरे में रहें और साझा रसोई व बाथरूम को लगातार साफ़ करें.

14 दिनों तक ऐसा करते रहें ताकि संक्रमण का ख़तरा कम हो सके.

कोरोनावायरस से संक्रमित पाए जाएं तो…

वर्तमान में कोरोना वायरस का कोई इलाज नहीं है लेकिन इसमें बीमारी के लक्षण कम होने वाली दवाइयां दी जा सकती हैं.

जब तक आप ठीक न हो जाएं, तब तक आपको दूसरों से अलग रहना होगा.

कोरोना वायरस के इलाज़ के लिए वैक्सीन विकसित करने पर काम चल रहा है.

उम्मीद है कि साल के अंत तक इंसानों पर इसका परीक्षण कर लिया जाएगा.

कुछ अस्पताल एंटी-वायरल दवाओं का भी परीक्षण कर रहे हैं.

Like Our Facebook Page – Bhakti Sadhana

भक्ती साधना एक अध्यात्मिक वेबसाइट है | यह वेबसाइट ईश्वरीय भक्ति में ओतप्रोत रहने वाले उन सभी मनुष्यो के लिए एक आध्यात्मिक यात्रा है| यहाँ पधारने के लिए आप सभी महानुभावो को कोटि कोटि प्रणाम|

About the author

admin

Leave a Comment

error: Content is protected !!